Posted by: rajprajapati | 05/09/2016

आप अपना विकास कीजीये, भ्रष्ट्र राजनीति का नही,

देश के राजनैतिक दलोमें कार्यकर्ता बने हुए लाखो लोगो को एक सवाल है की आप जीस पार्टी के कार्यकर्ता हो, जीस पार्टी के उम्मीदवारो को चूनाब जीताने का परीश्रम करते हो, वह पार्टी आपके बच्चो की शिक्षा का खर्च उठाती है?, सस्ती चीजे मुहया कराती है?, आपको रोजगार देती है ?

लाखो कार्यकर्ता ऐसे है की उसको “हाइ कमान्ड” की गुलामी करनी होती है, पार्टी की शिस्तता के नाम पर सालो से कार्यकर्ता एक ही उम्मीदवारो को बारबार खुरशी पर बीठाकर अपने अधिकारोको पार्टीकी सता के लीये खत्म करते आये है, मंहेगाइ, शिक्षा की फिज, बेरोजगरी जेलते आये है।

जनता की एक ही जरूरत है, की सभी तरह की शिक्षा पब्लीक फंड से हो, जनता कर भरती है तो जनता को मुफतमें सभी शिक्षा पानेका अधिकार संविधान देता भी है, आज सता में बैठी पार्टी के नेताओने संविधानने दिये आपके अधिकारो को ही खत्म कर दिया है,

आज देशमें सबसे बडी समस्या शिक्षा का व्यापार, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, जातीवाद है, यह सब समस्यायें हमने जीसको मतदान दिया है वही नेता लोगोने सभी समस्यायें पैदा की है,

हम मतदान क्युं करते है, और कर (टेकस) क्यु भरते है?

शिक्षा के लीये हम लाखो रूपीये की फिज क्युं भरते है ?

शिक्षा का व्यापार कीसने कीया है ?

आज बेरोजगारी एवं महेंगाइ के कारन आम आदमी की हालत भिखारी जैसी बन रही है,

शहेरोमें दीखनेवाली रोशनी देश की जनता को दीया जा रहा धोखा है, आज गांवोमें करोडो अनपढ लोगो एवं खेत मजदूरो के पास कोइ रोजगार नहीं है,

भारतका हर नागरीक  सभी चीजो पर कर भरता है तो उसको उसके बदलेमें भ्रष्टाचार एवं महेंगाइ, बेरोजगारी के सीवा आपको सरकार क्यां देती है ?

देशकी सभी व्यवस्थाओमें भ्रष्टाचार फैल गया है, अभी तक इस राष्ट्रीय समस्याओ का  हल होनेका कोइ विचार भी नहीं हो रहा है,

जब तक मतदाता एवं समाज का आम आदमी अपना स्वयं का उतरदायित्व और अधिकार नहीं समजेगां तब तक देशमें एवं सभी व्यवस्थाओमें भ्रष्टाचार चलता रहेंगा,

हम सभी चीजो और सभी आर्थीक व्यवहारोमें करा भरते रहते है, इसा कर की अरबोकी पूजी से राजनेता सरकार चलाते है सतामें आकर खुरशी पर जमे रहेने और जीवनभर भ्रष्टाचार करने की सता बनाये रखने के लीये राजनेता देशको दिन ब दिन  बर्बाद करते जा रहे है,

देशमें जब तक एक ही आदमी बारबार सतामें रहेगा और मतदाताओको अपने अधिकारोकी सही समज नहीं  आयेगी तब तक देशमें समस्यायें बढती जायेंगी,

ह्मारे देशमें एक भी नेता ऐसा नहीं है की जो सरेआम जुट नहीं बोलता हो, एक भी नेता ऐसा नहीं की वह  अपनी पार्टीके नवजवान कार्यकर्ता को सतामें आने देना चाहता हो,

राजनैतिक दल के नेता “हाइ कमान्ड” बनकर कार्यकर्ताओ को शिस्तता के नाम पर पार्टी के मजदूर की तरह  शोषण करते है,

हमें देश की व्यवस्थाओमें से सभी समस्याओ को हटाना है तो, सरकार की खुरशीयो से अभी तक के सभी  नेताओ को हटाना ही होगा,

आप स्वयं जब सता की खुरशी पर बैठेंगे नहीं तब तक आपकी एक भी समस्याओ का समाधान नहीं होगा,

आप का सतामें बैठना इस देश की जरूरत है,

आप के उपर ही देशकी सभी व्यवस्थाओका आधार है,

आप को स्वयं सक्रिय होना है,

आप को ही भ्रष्ट नेताओ को हटाना है,

आप को ही सभी सुधार करना है,

आप बडी बडी राजनैतिक पार्टीओ के संगठन एवं आर्थीक ताकात के सामने कैसे लडा पायेगें ?

आप देश के बडे बडे नेताओकी चूनावी प्रंपचोसे कैसे लड पायेगें ?

आप को चूनाव का खर्च कोना देगा ?

आप का प्रचार कैसे होगा ?

आप को आज तक चूनाव जीते हुए सभी नेताओ को दुबारा मतदान नहीं करनेकी प्रतिज्ञा करनी होगी,

आप को जाती और कोम के नाम पर अपनी पहेचान भुलानी होगी।

आप भारत के नागरीक है, आप भारत के संरक्षक है, आप भारत की शक्ति है,

आप को भरत के संविधानने सभी अधिकार दिये है। आप को संविधान ने सभी ताकात दी है।

आप को आपके जैसे दुसरे सभी लोगो को सच्चाइ की राह पर एकजुट करना है।

आप को अब राष्ट्रधर्मा निभाना है।

आप को ही देशकी खुशीया लौटानी है।

आप का अपना एक संगठन है, आप की अपनी आम आदमीओ का संगठन है,

आप को https://rajprajapati.wordpress.com, की लिन्क को सोशियल मीडिया से सभी को भेंजनी है,

आप स्वयं दो कदम चले तो पुरा देश आपके साथ दसा कदम चलेंगा,

आपा की, मेरी, हमारी, सबकी समस्याओ का समाधान हमें स्वयं करना है,


Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Categories

%d bloggers like this: