Posted by: rajprajapati | 19/06/2011

रास्ट्रीय नागरीकता पत्रक्रमांक से भ्रष्टाचार जरूर दुर होगा..

क्या भ्रष्टाचार हंमेशा के लीये खत्म हो जाये इसके लीये कोइ खास व्यवस्था बनायी जा शकती है.. ? हा..

अगर प्रजा चाहे तो भ्रष्टाचार हंमेशा के लीये दुर हो जाये ऐसी व्यवस्था बन शकती है…

और वो है… देश के हर नागरीक को सीटीझन कोड नंबर दीया जाये और डेटाकार्ड बनाया जाये…

 

सीटीझन कार्ड और नंबर ही सभी तरीके के भ्रष्टाचार को हंमेशा के लीये खत्म कर देता है….

सीटीझन नंबर की बात गुजरात के नरेन्द्र मोदी को मालुम है.. लेकीन वो भाइ साहेब गुजरातमें एकले सीटीजन कार्ड व नंबर नहीं दे शकते है..तो वो प्रधानमंत्री बनने की राह में हे…

इसी ब्लोग में गुजराती में नागरीक क्रमांक नामका एक खास आर्टीकल है…उसमें सीटीझन कार्ड और नंबर की जानकारी दी गयी है….

हम सब जानते है की .. मोबाइल का सीम कार्ड और ए.टी.एम. कार्ड की टेकनोलोजी को मीला के सीटीझन कार्ड बनाया जा सकता है….

देश के सभी नागरीक को सीटीझन कार्ड  मुह्या कराना अति आवश्यक है.. सीटीझन कार्ड से ही सभी व्यवहार करना फरजीयात बन जाये तो फीर कोइ बदमाशी करके के काले धन की लेनदेन नहीं कर शकता…. सीटीझन कार्ड और नंबर कैसे नियत करना चाहिये …

सारी दुनिया मे इस सीटीझन कार्ड का प्रयोग हो शके इसलीये ..

हमारे राष्ट्र का आंतरराष्ट्रीय कोड नंबर 0 91 है ..

अब सभी राज्यो को भी एक 2 आंक का नंबर देदो..

सभी गांव और शहेर को पोस्टल कोड भी तो हाता है…

इस तरीके से…

राष्ट्र का कोड, राज्य का कोड ..गांव या शहेर का कोड मिलाकर एक जनरल नंबर बन जाता है…

बाद में नागरीक की जन्म तारीख को जोड दीजीये …

और खास पहेचान के लीये…4 डीझीट का समय भी मीला दो..

करीबन करीब 16 डीझीट का सीतीझन नंबर बन जाता है….

कार्ड में सीम कार्ड की तरह ही खास जगा होती है.. उसमें खास सोफटवेयर से डेटा एन्ट्री की जाती है.

सीटीझन कार्ड में भी 1 जीबी से 8 जीबी तक का मेमरी समाया जा शकता है..उससे भी ज्यादा समाया जा शकता है….

सीटीझन कार्ड का प्रयोग करने की लीये 4 से 6 अंको  का एक पीन नंबर होना चाहीये.. और ..

सोफटवेयर का भी 4 अंको का पीन नंबर होना चाहीये.. सीटीझन कार्ड को ओपरेट करने के लीये.. सीटीझन कार्ड और सोफटवेयर का आंक मीलाया जाये तो ही कार्ड ओपरेत हो पायेगा.. जैसे ही कोइ कार्ड ओपरेट होता है तो कार्ड में और सोफट वेयर में एक दुसरे के मुल कोड क्रमांक अपडेट होता रहेता है…सीटीझन कार्ड के संबधित कोइ भी सोफटवेयर में कार्ड ओपरेट करते ही सबसे पहेले सोफटवेयर का कोड नंबर कार्ड में अपडेट होता है.. जैसे ही कार्ड अपडेट होता है तो मेइन सर्वर एंजीन में देटा अपने आप अपडेट हो जाता है.. मतलब कीकोइ भी नागरीक जहा भी जरूरत के हीसाब से अपना सीटीझन कार्ड अपयोग में लेता है तो सर्वर सेन्ट्रल की व्यवस्था में कार्ड का डेटा अपने आप अपडेट होता है….

हमारे राष्ट्रमें जमीनदारी का कीसान खाता नया नही खोला जा शकता है.. बाकी कोइ भी एकाउन्ट

 बनाया जा शकता है…

जो कीसान खतेदार होता है..   

( ये आर्टीकल अधुरा है..समय मीलने पर पुरा कीया जायेगा )


Responses

  1. AADHAR card is already scheduled, y u worry?

    • AADHAR card is not displayed to owner’s data…..AADHAR card is only for official use only…. i Indian citizen is worry for our society,

      આધાર કાર્ડ નો ઉપયોગ માત્ર નાગરીકના ક્રમાંક આપે છે જ્યારે મેં સુચવેલા સીટીઝન કાર્ડમાં પીન નંબરથી નાગરીકનો ડેટા સોફટવેરથી જાણી શકાય છે.. આધાર કાર્ડ માત્ર ઓળખપત્ર બની શકશે ડેટા કાર્ડ નહીં બને.. સરકારના વિભાગો પાસે ડેટા હશે તે ડેટાથી નાગરીકના વ્યવહારોનું કે બીજી ન્યાયીક બાબતોનું સંકલન થતુ નથી…… સીટીઝન કાર્ડમાં ડેટા એન્ટ્રી હશે.. જેના કારણે નાગરીકની દરેક બાબતોનું તેમાં વર્ણન હશે.. નાગરીકની નો ક્રાઇમ રેકોર્ડ હશે તેમજ તેની મિલ્કતો અને નાણાકીય વ્યવહારો આપોઆપ અપડેટ થઇ શકે છે… નાગરીક ક્રમાંકવાળો આખો લેખ બાકી છે.. ગુજરાતીમાં પણ છે તે જરા જોઇ લેવા જેવો છે….
      સીટીઝન કાર્ડથી દેશના નાગરીકોનું સુવ્યવસ્થીત વીભાજન અને સંચાલન કરી શકાશે…
      કોઇપણ નાગરીક જ્યારે બીજા કોઇ પણ બાબતમાં દેશના કોઇપણ સ્થળે નાણાંકીય લેવડદેવડ કરશે તો આપોઆપ કાર્ડમાં અપડેટ થઇ શકશે.. તેમજ સરકારી રેકોર્ડમાં પણ આપોઆપ અપડેટ થાશે…… આધાર કાર્ડનો ઉપયોગ સરકારી ધોરણે થાય તેની સાથે તેનો દુર ઉપયોગ પણ થઇ શકશે.. જ્યારે સીટીઝન કાર્ડનો નાગરીક પોતે કે સરકારી બિનસરકારી એમ કોઇપણ રીતે દુર ઉપયોગ થઇ શકતો નથી……. આખી મેટર પુરી થાય પછી બરાબર સમજાશે… આપની કોમેન્ટસ બદલ આભાર…


Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Categories

%d bloggers like this: